AcharyaTV

"न्यूज़ कोने कोने से II आप भी लिखना आरंभ करें"

सीएम ने किया ई-पेंशन पोर्टल का शुभारम्भ

पेंशनरों की हर संभव समस्याओं का समाधान करने का होगा प्रयास

इस पोर्टल के लागू होने से अब पेंशनरों की समस्याओं का त्वरित होगा समाधान

देवरिया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज लखनऊ के लोक भवन से श्रम दिवस (01 मई) के अवसर पर पेंशन व पेंशनर से संबंधित सेवाओं के प्रबंधन के लिए ई-पेंशन पोर्टल epension.up.nic.in का शुभारम्भ बटन दबा कर किया। उन्होने सभी प्रदेशवासियों को श्रम दिवस की शुभकामनाएं दीं।

उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की प्रेरणा से प्रदेश ने विगत 05 वर्षों में तकनीक का अधिकाधिक उपयोग किया है। उसी का परिणाम है कि प्रत्येक क्षेत्र में परिवर्तन देखने को मिल रहा है। ई-पेंशन पोर्टल ऑनलाइन डैशबोर्ड द्वारा पूर्ण रूप से अनुरक्षित होगा। उत्तर प्रदेश देश का पहला राज्य होगा, जो अपने पेंशन धारकों को यह सुविधा प्रदान करने जा रहा है।

अब पेंशन के लिए किसी को भी भटकना नहीं पड़ेगा। ई पेंशन पोर्टल इसी प्रक्रिया का एक हिस्सा है, ताकि आपके जीवन को और सरल किया जा सके।इससे प्रदेश के 11.50 लाख कार्मिक सीधे सीधे लाभान्वित होंगे। यह “इज आफ लिविंग” का ही हिस्सा है।इस शुभारम्भ कार्यक्रम से सभी जनपदों के पेंशनर्स जुडे।
जनपद के विकास भवन के गांधी सभागार में आयोजित इस कार्यक्रम से वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से जिलाधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह, मुख्य विकास अधिकारी रवींद्र कुमार, वरिष्ठ कोषाधिकारी कुलदीप सरोज व पेंशनर्स गण जुडे एवं वीडियो कान्फ्रेसिंग/सजीव प्रसारण कार्यक्रम को उनके द्वारा देखा गया।
जिलाधिकारी श्री सिंह उपस्थित सभी पेंशनरो से परिचय के साथ ही उनके अनुभवो को साझा किया। उन्होने कहा कि सरकारी सेवक अपनी निष्ठापूर्वक सेवा व योगदान उपरान्त सेवानिवृत्त होते हैं। उनकी देयकों एवं उनके अधिकारों को समय से दिलाना हम सभी का कर्तव्य है।

इस पोर्टल के लागू होने से अब पेंशनर्स को अपनी समस्याओं को लेकर अन्यत्र भागदौड़ नही करनी पडेगी। इसे पोर्टल के माध्यम से उनके सभी देयक समय से मिलेगें। उन्होने यह भी आशवस्त करते हुए कहा कि पेंशनरों की समस्याओं का समाधान करना हम सभी की प्राथमिकता होगी।


मुख्य विकास अधिकारी रवींद्र कुमार ने भी सरकारी सेवकों के योगदान एवं उनके मेहनत उपरान्त अधिवर्षता आयु पूर्ण कर सेवानिवृत्ति पर प्रकाश डाला। कहा कि सेवानिवृत्ति भी एक शासकीय प्रक्रिया है। शासकीय सेवा उपरान्त परिवारिक दायित्वों को निर्वहन करने की भी जिम्मेदारी बढ जाती है। जिला प्रशासन का प्रयास होगा कि उनके सभी देयक समय से मिले।


वरिष्ठ कोषाधिकारी कुलदीप सरोज ने जिलाधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी सहित सभी पेंशनर्स संघ के पदाधिकारियों व प्रतिभाग करने वाले सभी आगन्तुकों के प्रति अपना आभार व्यक्त किया। कहा कि ई-पोर्टल के माध्यम से अब पेंशन के हित लाभ आसानी से सेवकों को मिल सकेगा। पेंशनरों की समस्याओं का हर संभव समाधान करने का प्रयास होगा।


आयोजित इस कार्यक्रम में डा0डी0वी0शाही, राम विलास तिवारी, श्रीराम तिवारी, देवेन्द्र नाथ तिवारी, दिग्विजय नाथ तिवारी, रामचन्द्र सिंह, सुदामा प्रसाद, लालसा यादव, अवधेश सिंह, वीके दीक्षित, डीआईओ एनआईसी कृष्णानंद यादव, आरके पाण्डेय, राम नारायण, राहुल चौधरी, बृजेन्द्र कुमार पाण्डेय, शिव नारायण मिश्र सहित अनेक पेंशनर्स आदि उपस्थित रहे।

आप अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दर्ज कर सकते हैं।